विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टम (Windows Operating System)

Windows NT Workstation

एक पुराना ऑपरेटिंग सिस्टम है जिसका पहला संस्करण 27 जुलाई, 1993 को जारी किया गया था। जो Microsoft ने विकसित किया था। यह एक ग्राहक-सर्विसेज़ ऑपरेटिंग सिस्टम था जिसे विभिन्न क्षेत्रों में प्रोफेशनल्स और उपयोगकर्ताओं के लिए डिज़ाइन किया गया था। इसका उपयोग नेटवर्क सेवाओं, सर्वर सामग्री, और उच्च प्रदर्शन गुणवत्ता के साथ किया जा सकता था।

Windows NT Workstation को Windows NT फैमिली का हिस्सा माना जाता था, जिसमें Windows NT Server भी शामिल था। इसका मुख्य उद्देश्य उच्च गुणवत्ता और सुरक्षा प्रदान करना था, जिससे यह विभिन्न विशेषज्ञ उपयोगकर्ताओं के लिए उपयुक्त होता था।

Windows NT Workstation में उच्च प्रदर्शन, मल्टीटास्किंग, और अन्य विशेषताएँ थीं जो एक पेशेवर ऑपरेटिंग सिस्टम से आशयित थीं। यह 32-बिट ऑपरेटिंग सिस्टम था और उस समय के लिए उच्च सुरक्षा स्तर प्रदान करने की कोशिश करता था।

हालांकि, आजकल Windows NT Workstation का उपयोग बहुत ही कम हो गया है, क्योंकि Microsoft ने बाद में Windows 2000, Windows XP, और अन्य वेरिएंट्स को विकसित किया है जो इसके बाद आए और उपयोगकर्ताओं को नवीनतम तकनीकी और सुधारित विशेषताओं का अनुभव करने की सुविधा प्रदान करते हैं।

Windows 98

एक पुराना ऑपरेटिंग सिस्टम था जो Microsoft ने विकसित किया था और 1998 में जारी किया गया था। यह एक 32-बिट ऑपरेटिंग सिस्टम था जो उपयोगकर्ताओं को उच्च स्तर की व्यावसायिकता, मल्टीमीडिया सुविधाएं, और सरल उपयोगकर्ता अनुभव प्रदान करने का उद्देश्य था।

Windows 98 में कुछ मुख्य विशेषताएँ थीं:

एक्सप्लोरर और स्टार्ट मेनू: Windows 98 में आया एक नया यूज़र इंटरफ़ेस, जिसमें स्टार्ट मेनू और विंडोज़ एक्सप्लोरर की सुधारें की गई थीं।

मल्टीमीडिया समर्थन: Windows 98 में मल्टीमीडिया सुविधाएँ में सुधार किया गया था, जिसमें DirectX समर्थन और ऑडियो/वीडियो फ़ाइलों के साथ बेहतरीन संगतता थी।

इंटरनेट एक्स्प्लोरर 4: Windows 98 में इंटरनेट एक्सप्लोरर 4 आया था, जिससे इंटरनेट सर्फिंग में सुधार हुआ।

विजुअल स्टूडियो: यह वर्शन Visual Studio स्थापित करने में सहायक था, जिससे डेवेलपर्स को अधिक तेजी से Windows एप्लिकेशन्स विकसित करने में मदद मिलती थी।

आपकी स्वरुपता: Windows 98 में उपयोगकर्ता को उच्च स्तर की स्वरुपता मिलती थी, जिससे वह अपनी पसंदीदा विशेषताओं को अनुकरण कर सकता था।

Windows 98 ने अपनी सामाजिक स्थिति के साथ आगे बढ़कर विंडोज़ 2000 और Windows ME (Millennium Edition) को लॉन्च करने का मार्ग खोला। हालांकि आजकल यह सिस्टम पुराना हो गया है और अधिकतर लोग नवीनतम विंडोज़ वर्शन का उपयोग करते हैं।

Windows 98 एक पुराना ऑपरेटिंग सिस्टम था जो Microsoft ने विकसित किया था और 1998 में जारी किया गया था। यह एक 32-बिट ऑपरेटिंग सिस्टम था जो उपयोगकर्ताओं को उच्च स्तर की व्यावसायिकता, मल्टीमीडिया सुविधाएं, और सरल उपयोगकर्ता अनुभव प्रदान करने का उद्देश्य था।

Windows 98 में कुछ मुख्य विशेषताएँ थीं:

एक्सप्लोरर और स्टार्ट मेनू: Windows 98 में आया एक नया यूज़र इंटरफ़ेस, जिसमें स्टार्ट मेनू और विंडोज़ एक्सप्लोरर की सुधारें की गई थीं।

मल्टीमीडिया समर्थन: Windows 98 में मल्टीमीडिया सुविधाएँ में सुधार किया गया था, जिसमें DirectX समर्थन और ऑडियो/वीडियो फ़ाइलों के साथ बेहतरीन संगतता थी।

इंटरनेट एक्स्प्लोरर 4: Windows 98 में इंटरनेट एक्सप्लोरर 4 आया था, जिससे इंटरनेट सर्फिंग में सुधार हुआ।

विजुअल स्टूडियो: यह वर्शन Visual Studio स्थापित करने में सहायक था, जिससे डेवेलपर्स को अधिक तेजी से Windows एप्लिकेशन्स विकसित करने में मदद मिलती थी।

आपकी स्वरुपता: Windows 98 में उपयोगकर्ता को उच्च स्तर की स्वरुपता मिलती थी, जिससे वह अपनी पसंदीदा विशेषताओं को अनुकरण कर सकता था।

Windows 98 ने अपनी सामाजिक स्थिति के साथ आगे बढ़कर विंडोज़ 2000 और Windows ME (Millennium Edition) को लॉन्च करने का मार्ग खोला। हालांकि आजकल यह सिस्टम पुराना हो गया है और अधिकतर लोग नवीनतम विंडोज़ वर्शन का उपयोग करते हैं।

Windows 2000

एक माइक्रोसॉफ्ट विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टम था, जो 2000 में जारी किया गया था। यह विंडोज NT सिस्टम के एक परिवर्तन रूप था और उपयोगकर्ताओं को एक स्थिर, सुरक्षित, और उच्च प्रदर्शन वाला ऑपरेटिंग सिस्टम प्रदान करने का उद्देश्य था। यह 32-बिट ऑपरेटिंग सिस्टम था जो पर्यावरणों में विशेषज्ञता प्रदान करने के लिए डिज़ाइन किया गया था।

Windows 2000 में कुछ मुख्य विशेषताएँ थीं:

एक्सप्लोरर और स्टार्ट मेनू: Windows 2000 में एक्सप्लोरर और स्टार्ट मेनू को और भी सुधारित किया गया था, जो उपयोगकर्ताओं को सुधारित अनुभव प्रदान करता था।

सुरक्षा और स्थिरता: Windows 2000 में सुरक्षा और स्थिरता को महत्वपूर्णता दी गई थी, जिसमें नए सुरक्षा फीचर्स, जैसे कि नेटवर्क सुरक्षा और एक्टिव डायरेक्टरी, शामिल थे।

इंटेलिजेंट इंटरनेट सेवर्स: Windows 2000 में इंटेलिजेंट इंटरनेट सेवर्स (IIS) को शामिल किया गया था, जो वेब साइट्स और वेब एप्लिकेशन्स की तैयारी के लिए सुधार किया गया था।

मल्टीमीडिया समर्थन: Windows 2000 में मल्टीमीडिया समर्थन में भी सुधार किया गया था, जिससे उपयोगकर्ताएं बेहतरीन ऑडियो और वीडियो अनुभव कर सकती थीं।

Windows 2000 एक व्यावसायिक पर्यावरण के लिए डिज़ाइन किया गया था और इसने विभिन्न सेवाएं और नेटवर्क सुविधाएँ प्रदान की जिनसे इसे कॉर्पोरेट सेटिंग्स में उपयोग करने में मदद मिलती थी।

Windows ME (Windows Millennium Edition)

एक माइक्रोसॉफ्ट विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टम था जो 2000 में जारी किया गया था। यह विंडोज 98 के एक अपग्रेड रूप था और उपयोगकर्ताओं को एक सरल, मल्टीमीडिया समर्थ, और घरेलू उपयोग के लिए विशिष्टता बनाए रखने का उद्देश्य था।

Windows ME में कुछ मुख्य विशेषताएँ थीं:

इंटेग्रेटेड मल्टीमीडिया: Windows ME में मल्टीमीडिया समर्थन में सुधार किया गया था जिससे उपयोगकर्ताएं ऑडियो, वीडियो, और गेमिंग का बेहतर अनुभव कर सकती थीं।

सिस्टम रेस्टोर: Windows ME में सिस्टम रेस्टोर फीचर शामिल थी, जो उपयोगकर्ताओं को सिस्टम में किसी समस्या के पूर्वस्थिति को बहाल करने की सुविधा देती थी।

अधिक सहज उपयोग: Windows ME में यूज़र इंटरफ़ेस को और भी सहज बनाया गया था ताकि उपयोगकर्ताएं अपने सिस्टम को आसानी से संचालित कर सकें।

इंटरनेट सुविधाएँ: Windows ME में इंटरनेट संबंधित सुधार हुआ था, जैसे कि इंटरनेट एक्सप्लोरर 5.5 का समर्थन।

अधिक स्थानीय नेटवर्क समर्थन: यह वर्शन घरेलू नेटवर्किंग को बेहतरीन सपोर्ट करता था, जिससे उपयोगकर्ताएं अपने घरेलू नेटवर्क को आसानी से सेटअप कर सकती थीं।

Windows ME ने उपयोगकर्ताओं को एक आसान और मल्टीमीडिया-संरचित ऑपरेटिंग सिस्टम प्रदान करने का प्रयास किया, लेकिन इसका विपरीत प्रतिक्रिया थी और कई लोगों को इसकी स्थिति को लेकर संदेह था। Windows ME का समर्थन समाप्त हो गया है, और लोग आमतौर पर नवीनतम विंडोज़ वर्शन का उपयोग करते हैं।

Windows XP

एक माइक्रोसॉफ्ट विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टम था जो 2001 में जारी किया गया था। यह विंडोज 2000 का एक सफल और सुधारित संस्करण था और इसने घरेलू और व्यावासिक उपयोगकर्ताओं के लिए एक स्थिर और उपयोगकर्ता-मित्र ऑपरेटिंग सिस्टम प्रदान किया।

Windows XP में कुछ मुख्य विशेषताएँ थीं:

लुना यूज़र इंटरफेस: Windows XP ने लुना यूज़र इंटरफेस को पेश किया, जिससे उपयोगकर्ताएं पहले से अधिक आकर्षक और आसान इंटरफेस का आनंद ले सकती थीं।

व्यावासिक नेटवर्क सुविधाएँ: Windows XP में व्यावासिक नेटवर्क सुविधाएँ में सुधार हुआ था, जिससे उपयोगकर्ताएं आसानी से अपने घरेलू नेटवर्क को सेटअप कर सकती थीं।

स्थिरता और सुरक्षा: Windows XP ने सिस्टम की स्थिरता और सुरक्षा में महत्वपूर्ण सुधार किए जिससे उपयोगकर्ताओं को एक अधिक सुरक्षित अनुभव मिला।

स्थानीय और ऑनलाइन सर्विसेज़: Windows XP में स्थानीय और ऑनलाइन सर्विसेज़ का समर्थन था, जिससे उपयोगकर्ताएं अपने सिस्टम को और भी उपयोगी बना सकती थीं।

विभिन्न संस्करण: Windows XP में Home और Professional जैसे विभिन्न संस्करण थे, जिनमें व्यावासिक और व्यावसायिक उपयोग के लिए विशेषताएँ थीं।

Windows XP ने लम्बे समय तक विश्वभर में लोकप्रियता हासिल की और यह बहुत से उपयोगकर्ताओं के लिए एक पसंदीदा ऑपरेटिंग सिस्टम बन गया। हालांकि, इसका समर्थन माइक्रोसॉफ्ट द्वारा 2014 में समाप्त हो गया है, और विंडोज़ के नवीनतम संस्करण का उपयोग करना सुरक्षित और सुझावित है।

Windows Vista

एक माइक्रोसॉफ्ट विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टम था जो 2007 में जारी किया गया था। यह विंडोज XP के बाद का एक नया संस्करण था, जिसमें उपयोगकर्ताओं को और उनके सिस्टम को बेहतर ग्राफिक्स, सुरक्षा, और नेटवर्किंग सुविधाओं के साथ एक नवीनतम अनुभव प्रदान करने का प्रयास किया गया था।

Windows Vista में कुछ मुख्य विशेषताएँ थीं:

एयरो यूज़र इंटरफेस: Windows Vista ने एयरो यूज़र इंटरफेस पेश किया, जिसमें नए और आकर्षक ग्राफिकल इफेक्ट्स शामिल थे जो उपयोगकर्ताओं को एक नवीनतम और उच्च-स्तरीय इंटरफेस अनुभव कराने में मदद करते थे।

सुरक्षा सुधार: Windows Vista में सुरक्षा की बड़ी प्राथमिकता दी गई थी, जिसमें नए सुरक्षा फीचर्स, जैसे कि उपयोगकर्ता अकाउंट कंट्रोल (User Account Control – UAC) शामिल थे।

विंडोज़ साइडबार: यह एक नया गैजेट सिस्टम था जिसमें उपयोगकर्ता अपनी पसंदीदा गैजेट्स को डेस्कटॉप पर रख सकते थे, जैसे कि क्लॉक, रैडियो, नोटपैड, आदि।

वाइंडोज़ रिलेशनशिप सेंटर: इसमें उपयोगकर्ताओं को अपने संपर्कों, कैलेंडर, और अन्य सामाजिक जानकारी को संग्रहित करने और संबंधित रखने के लिए सुविधाएं थीं।

नेटवर्किंग सुधार: Windows Vista में नेटवर्किंग को सुधारा गया था, जिससे उपयोगकर्ताएं आसानी से विभिन्न नेटवर्क सेटिंग्स को संरचित कर सकती थीं।

Windows Vista का अच्छा अनुभव करने के लिए उच्च-स्तरीय हार्डवेयर की आवश्यकता थी, और यह बाद में Windows 7 के लॉन्च के साथ बड़े संशोधनों के लिए परिचित हुआ। हालांकि, कुछ उपयोगकर्ताओं ने इसे हार्डवेयर आवश्यकताओं और सुरक्षा संबंधित समस्याओं के कारण संबोधित किया और Windows Vista की प्रशंसा कम हुई।

Windows 7

एक माइक्रोसॉफ्ट विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टम था जो 2009 में लॉन्च हुआ था। यह विंडोज़ विस्ट के बाद का एक महत्वपूर्ण संस्करण था और इसने उपयोगकर्ताओं को बेहतर ग्राफिक्स, सुरक्षा, सुविधाएं, और संवेदनशीलता प्रदान करने का प्रयास किया।

Windows 7 में कुछ मुख्य विशेषताएँ थीं:

अरोरो इंटरफेस: Windows 7 ने एयरो इंटरफेस को लाए, जो उपयोगकर्ताओं को एक सुंदर और आकर्षक ग्राफिक्स इंटरफेस प्रदान करता था।

नए टास्कबार और जंप लिस्ट: यह विशेषता उपयोगकर्ताओं को तेजी से उनके फ़ाइल्स और आवश्यक उपयोग के लिए पहुँचने की सुविधा प्रदान करती थी।

होमग्रुप: Windows 7 में होमग्रुप विशेषता शामिल थी, जिससे उपयोगकर्ताएं अपने घरेलू नेटवर्क पर आसानी से फ़ाइल और प्रिंटर साझा कर सकती थीं।

लाइब्रेरीज़: लाइब्रेरीज़ उपयोगकर्ताओं को उनकी फ़ाइल्स को आसानी से संग्रहित करने और उन्हें संगीत, तस्वीरें, वीडियो, और दस्तावेज़ आदि के अनुसार संग्रहित करने की सुविधा प्रदान करते थे।

सुरक्षा सुधारें: Windows 7 में सुरक्षा में कई सुधारें की गई थीं, जैसे कि बेहतर फ़ायरवॉल, उपयोगकर्ता अकाउंट कंट्रोल (UAC), और वायरस स्कैनिंग की बढ़ी गई क्षमता।

स्नैप और पीक: विंडोज़ 7 में स्नैप और पीक की विशेषताएँ शामिल थीं, जो उपयोगकर्ताओं को विंडोज़ को एक व्यावासिक तरीके से व्यवस्थित करने में मदद करती थीं।

Windows 7 ने उपयोगकर्ताओं को एक स्थिर और उच्च-स्तरीय ऑपरेटिंग सिस्टम प्रदान किया और इसकी लोकप्रियता ने लम्बे समय तक बनाए रखी। इसका समर्थन माइक्रोसॉफ्ट द्वारा 2020 में समाप्त हो गया है, लेकिन कई उपयोगकर्ताएं अब भी इसका उपयोग करती हैं।

Windows 8 और Windows 8.1

माइक्रोसॉफ्ट द्वारा विकसित ऑपरेटिंग सिस्टम हैं जो विंडोज़ 7 के बाद आये थे। ये संस्करण एक नया मेट्रो इंटरफेस (जिसे बाद में माइक्रोसॉफ्ट ने “मॉडर्न इंटरफेस” या “टाइल्स इंटरफेस” कहा) लाए थे जो एक नवीनतम और टच-फ्रेंडली इंटरफेस प्रदान करता था।

Windows 8 कुछ मुख्य विशेषताएँ थीं:

मॉडर्न इंटरफेस या टाइल्स इंटरफेस: यह इंटरफेस एक नया आधारभूत डिज़ाइन प्रदान करता था जिसमें टाइल्स शामिल थीं जो अप्लिकेशन और सेटिंग्स को दिखाती थीं।

स्नैप फीचर: यह फ़ीचर उपयोगकर्ताओं को दो एप्लिकेशन को स्क्रीन के दोनों हिस्सों में समाहित करने की सुविधा प्रदान करता था।

स्टोर: विंडोज स्टोर के माध्यम से उपयोगकर्ताएं विभिन्न ऐप्स और गेम्स को डाउनलोड और इंस्टॉल कर सकती थीं।

Windows 8.1 में कुछ अपडेट्स और सुधारणाएं थीं:

बार के प्रतिभागीकरण: यह सुधार उपयोगकर्ताओं को बार को आसानी से प्रबंधित करने की सुविधा प्रदान करता था।

स्टार्ट बटन: Windows 8.1 में स्टार्ट बटन को पुनः जोड़ा गया था, जिससे उपयोगकर्ताएं पारंपरिक स्टार्ट मेनू का उपयोग कर सकती थीं।

मल्टीटास्किंग सुधार: यह उपयोगकर्ताओं को एक ही समय में एक से अधिक आवृत्ति को खोलने और स्विच करने की सुविधा प्रदान करता था।

विभिन्न स्क्रीन आवृत्तियों के समर्थन: Windows 8.1 में उपयोगकर्ताएं अब अपने डेवाइस को विभिन्न स्क्रीन आवृत्तियों के साथ उपयोग कर सकती थीं।

Windows 8 और 8.1 में माइक्रोसॉफ्ट ने यह कोशिश की थी कि उपयोगकर्ता को एक संगत और मॉडर्न इंटरफेस मिले, लेकिन कुछ उपयोगकर्ताओं ने इसकी स्विकृति नहीं की थी। इसके पश्चात्, Windows 10 लॉन्च हुआ जिसमें बहुत से इंटरफेस और सुरक्षा सुधार हुईं थीं और यह एक बड़ी संबद्धि हो गया है।

Windows 10

एक माइक्रोसॉफ्ट विंडोज ऑपरेटिंग सिस्टम है जो 2015 में लॉन्च किया गया था। यह विंडोज़ 8 और 8.1 के बाद का संस्करण है और इसने विभिन्न उपयोगकर्ता अनुभव, सुरक्षा और इंटरफेस में सुधार के साथ एक बेहतर और समृद्ध ऑपरेटिंग सिस्टम प्रदान किया है।

Windows 10 की कुछ मुख्य विशेषताएँ:

स्टार्ट मेनू की वापसी: Windows 10 में स्टार्ट मेनू को पुनर्स्थापित किया गया, जिससे उपयोगकर्ताएं परंपरागत मेनू से आसानी से एप्लिकेशन और सेटिंग्स तक पहुंच सकती हैं।

विंडोज इंटरफेस में सुधार: Windows 10 ने उपयोगकर्ताओं को एक नया और सुधारित इंटरफेस प्रदान किया है जिसमें स्मार्ट बटन और एक्शन सेंटर जैसी विशेषताएँ हैं।

कॉर्टाना: यह व्यक्तिगत सहायक है जो उपयोगकर्ताओं को विभिन्न कार्यों के लिए अगले कदम की नेविगेशन में मदद करने के लिए उपलब्ध है।

मल्टीडेस्कटॉप: Windows 10 में मल्टीडेस्कटॉप विशेषता शामिल है, जिससे उपयोगकर्ता एक समय में कई डेस्कटॉप को संचालित कर सकते हैं।

माइक्रोसॉफ्ट ब्राउज़: Windows 10 में एक नया वेब ब्राउज़र, जिसे माइक्रोसॉफ्ट एजेंट (Microsoft Edge) कहा जाता है, शामिल है जो वेब ब्राउज़िंग को और तेज और अधिक सुरक्षित बनाने का प्रयास करता है।

सुरक्षा सुधारें: Windows 10 में बेहतर सुरक्षा सुविधाएँ शामिल हैं, जैसे कि वायरस स्कैनिंग और फायरवॉल सुरक्षा।

Windows 10 ने विभिन्न उपयोगकर्ता आवश्यकताओं का ध्यान रखते हुए एक समृद्ध और उच्च-स्तरीय ऑपरेटिंग सिस्टम प्रदान किया है और यह विंडोज़ के सबसे नवीनतम संस्करण के रूप में स्थित है।

Windows 11

एक माइक्रोसॉफ्ट विंडोज़ ऑपरेटिंग सिस्टम है जो 2021 में लॉन्च हुआ था। यह विंडोज़ 10 के बाद का संस्करण है और इसमें विभिन्न उपयोगकर्ता अनुभव, डिज़ाइन बदलाव, और सुरक्षा में कई सुधारें हैं।

Windows 11 की कुछ मुख्य विशेषताएँ:

स्टार्ट मेनू और टास्कबार: Windows 11 में स्टार्ट मेनू और टास्कबार में बदलाव किया गया है, जिससे यह एक नया, सुंदर और सरल डिज़ाइन प्रदान करता है।

मुल्टीडेस्कटॉप एवं स्नैप फीचर: Windows 11 में मल्टीडेस्कटॉप और स्नैप फीचर में सुधार हुआ है, जिससे उपयोगकर्ताएं अपने विंडोज़ को संगीत, आवृत्ति, और फ़ोटोज़ के लिए बेहतर ढंग से प्रबंधित कर सकती हैं।

सुंदर और स्थिर इंटरफेस: Windows 11 ने एक नया और एलिगेंट इंटरफेस पेश किया है जो उपयोगकर्ताओं को एक बेहतर और आकर्षक अनुभव प्रदान करता है।

माइक्रोसॉफ्ट स्टोर: विंडोज़ 11 में माइक्रोसॉफ्ट स्टोर को पूरी तरह से पुनर्निर्मित किया गया है, जिससे उपयोगकर्ताएं और विकसक बेहतर ऐप्लिकेशन और गेम्स को आसानी से खोज सकते हैं।

डार्क मोड और अन्य विषय: Windows 11 में डार्क मोड की विशेषता है जो उपयोगकर्ताओं को एक कम आंतरप्रकाश वाले माहौल में काम करने का विकल्प प्रदान करती है।

संबद्धता और एक्सेसिबिलिटी: Windows 11 में संबद्धता और एक्सेसिबिलिटी को बढ़ावा दिया गया है जिससे उपयोगकर्ताएं साहसिक सुविधाएं और अनुकूलन उपयोग कर सकती हैं।

गेमिंग सुधारें: Windows 11 में गेमिंग सुधारें की गई हैं, जिससे उपयोगकर्ताएं बेहतरीन गेमिंग अनुभव कर सकती हैं।

Windows 11 में कई नई और सुधारित विशेषताएँ हैं जो उपयोगकर्ताओं को एक नवीनतम और सुधारित ऑपरेटिंग सिस्टम का अनुभव करने में मदद करती हैं।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shopping Cart