कंप्यूटर का अविष्कार कब हुआ ?

कंप्यूटर का अविष्कार कोई एक तिथि या व्यक्ति को नहीं माना जा सकता है, बल्कि इसका विकास और अविष्कार विभिन्न योजनाओं, चरणों, उपकरणों, और तकनीकी उन्नतियों के संयुक्त प्रयासों का परिणाम है।

कंप्यूटिंग के क्षेत्र में बहुत सी योजनाएं और उपकरण समय के साथ विकसित हुए हैं, लेकिन यदि हम एक पूर्ण रूप में कार्य करने सक्षम डिजिटल कंप्यूटर की बात करें, तो ENIAC (बेबेज एनालिटिकल इंजिन) को 1946 में पहली बार सार्वजनिक रूप से प्रदर्शित किया गया था। ENIAC विलियम जे. मॉक्लॉकली और जॉन प्रेसपर एक द्वारा विकसित किया गया था और यह पहला पूरी तरह से इलेक्ट्रॉनिक ट्यूब्स का उपयोग करने वाला कंप्यूटर था जो बिना किसी मैकेनिकल तंत्र के गणना कर सकता था।
कंप्यूटर अविष्कार किसने किया ?

कंप्यूटर के अविष्कार का श्रेय बहुत से वैज्ञानिकों, अभियंताओं, और योजनाकारों को समर्पित किया जाता है, क्योंकि कंप्यूटिंग की विकास एक लम्बी और संवैधानिक प्रक्रिया थी। कुछ महत्वपूर्ण नाम इस प्रक्रिया में शामिल हैं:

चार्ल्स बेबेज (Charles Babbage):
चार्ल्स बेबेज एक अंग्रेजी गणितज्ञ, तर्कशास्त्री, और योजनाकार थे, जिन्होंने 19वीं शताब्दी में गणितीय गणना के लिए मेकेनिकल उपकरणों की योजना की थी। उन्होंने “अणालिटिकल इंजिन” नामक उपकरण का डिजाइन किया, जिसे कंप्यूटर की प्रारंभिक रूप से जनक माना जाता है।

अडा लवलेस (Ada Lovelace):
अडा लवलेस एक ब्रिटिश गणितीज्ञ जीनियस थीं, जिन्होंने चार्ल्स बेबेज के “अणालिटिकल इंजिन” के लिए प्रोग्राम लिखा और यहां तक कि उन्होंने आधुनिक प्रोग्रामिंग की मानक अवधारित की। वे पहली महिला हैं जिन्होंने कंप्यूटिंग के क्षेत्र में प्रोग्रामिंग किया था।

आलेन ट्यूरिंग (Alan Turing):
आलेन ट्यूरिंग एक ब्रिटिश गणितज्ञ, लोगिकियन, और कंप्यूटर वैज्ञानिक थे, जिन्होंने कंप्यूटर साइंस में कई महत्वपूर्ण योगदान किए। उन्होंने “ट्यूरिंग मशीन” की योजना की, जो आमतौर पर विशेषज्ञ गणितीय समस्याओं का हल करने के लिए प्रोग्रामिंग का मानक बन गया।

ये वैज्ञानिक और योजनाकार केवल कुछ उदाहरण हैं, कुछ और वैज्ञानिक और अभियंता भी अपने योगदान के लिए महत्वपूर्ण हैं जिनके द्वारा कंप्यूटर के अविष्कार में योगदान किया गया।

कंप्यूटर माउस का अविष्कार कब हुआ ?

कंप्यूटर माउस का अविष्कार 1960 में हुआ था। माउस का आविष्कार डग्लस एंगलबार्ट, जो एक अंग्रेजी यांत्रिकी और कंप्यूटर विज्ञानी थे, और हर्बर्ट सिमॉन, जो एक अमेरिकी जनरल इलेक्ट्रिक (GE) कंपनी के इंजीनियर थे, ने मिलकर किया था।

माउस का आविष्कार होते ही, उसने हाथ में लिए जाने वाले एक छोटे से यन्त्र के रूप में उपयोग करने का कंसेप्ट बनाया था। यह यन्त्र एक लगभग स्क्वेयर डिवाइस था जिसमें एक डिटल चक्राकार क्यूर्सर को बढ़ाने और घटाने के लिए एक स्क्रीन पर आंकित ग्राफिक्स की प्रदर्शित की गई थी।

माउस की प्रोटोटाइप पहले 1964 में तैयार हुई, और उसे फ्लाइट सिम्युलेटर कोंसोल को कंट्रोल करने के लिए डिज़ाइन किया गया था। इसके बाद, इसे व्यापक अपनाया गया और इसने कंप्यूटर इंटरफेस को सुधारने में महत्वपूर्ण योगदान दिया।

माउस ने हाथों के बजाय कीबोर्ड या अन्य इनपुट डिवाइस का उपयोग करके यंत्रों को नेविगेट करने की नई विधि प्रदान की और इसने हुमेन-कंप्यूटर इंटरेक्शन को सुधारा।

कंप्यूटर माउस का अविष्कार किसने किया ?

कंप्यूटर माउस का आविष्कार डग्लस एंगलबार्ट और हर्बर्ट सिमॉन नामक वैज्ञानिक द्वारा किया गया था। वे अंग्रेजी यांत्रिकी और अमेरिकी जनरल इलेक्ट्रिक (GE) कंपनी के इंजीनियर थे।

माउस का आविष्कार 1960 में हुआ था, और इसका प्रोटोटाइप पहले 1964 में तैयार किया गया था। माउस का मुख्य उद्देश्य हाथ में लिए जाने वाले एक छोटे से यन्त्र के रूप में उपयोग करने था, जो एक स्क्रीन पर आंकित ग्राफिक्स को बढ़ाने और घटाने के लिए एक डिटल चक्राकार क्यूर्सर को कंट्रोल कर सकता था।

डग्लस एंगलबार्ट और हर्बर्ट सिमॉन का यह आविष्कार बाद में हुआ योजना को बेहतर बनाने की कठिनाईयों के बावजूद, माउस को सार्वजनिक रूप से 1968 में पेश किया गया था। इसके बाद, माउस ने कंप्यूटर इंटरफेस को सुधारने में महत्वपूर्ण योगदान दिया और यह आधुनिक हार्डवेयर के रूप में हमारे कंप्यूटर इंटरैक्शन को सुविधाजनक बनाया है।

कंप्यूटर कीबोर्ड का अविष्कार कब हुआ ?

कंप्यूटर कीबोर्ड का आविष्कार कंप्यूटर के विकास के साथ हुआ और इसका प्रयोग पहले कंप्यूटरों को कंट्रोल करने के लिए किया गया। इसका अधिकारिक रूप से प्रयोग 1940 और 1950 के दशकों में होने लगा था।

पहली मॉडल कीबोर्ड वाणीज़ा, एक विज्ञानी और इंजीनियर, ने 1946 में बनाई थी। वाणीज़ा ने इसे एनिएक (ENIAC) कंप्यूटर के लिए डिज़ाइन किया था जो एक बड़े इलेक्ट्रॉनिक डिजिटल कंप्यूटर था।

कंप्यूटर कीबोर्ड की और एक महत्वपूर्ण दिशा चार्ल्स बेबेज द्वारा दी गई थी। बेबेज ने अपने “अणालिटिकल इंजिन” के लिए कार्यक्षम कीबोर्ड का विचार किया था जिसे उन्होंने अपनी योजना में शामिल किया था। इस योजना में, एक कार्यक्षम इंजिन के साथ जुड़ी हुई एक माइक्रोप्रोसेसिंग इकाई के रूप में कीबोर्ड का उपयोग होने का विचार था।

इन प्रारंभिक प्रयासों के बाद, कंप्यूटर कीबोर्ड ने विकसित होकर समय के साथ बदलते रहे हैं और आजकल कंप्यूटरों के स्टैंडार्ड इनपुट डिवाइस के रूप में स्थापित हैंकंप्यूटर कीबोर्ड का अविष्कार किसने किया ?

कंप्यूटर कीबोर्ड का आविष्कार किसी विशिष्ट व्यक्ति द्वारा नहीं किया गया है, बल्कि इसका विकास विभिन्न योजनाओं, वैज्ञानिकों, और इंजीनियरों के संयुक्त प्रयासों का परिणाम है। कंप्यूटर कीबोर्ड का विचार पहले ही कई लोगों के मन में उठा था और इसका प्रथम प्रयोग कंप्यूटरों को कंट्रोल करने के लिए किया गया था।

कंप्यूटर कीबोर्ड की प्रोटोटाइप पहले 1946 में तैयार हुई थी, जब वाणीज़ा नामक वैज्ञानिक ने एनिएक (ENIAC) कंप्यूटर के लिए डिज़ाइन की गई। इसके बाद चार्ल्स बेबेज, जिन्होंने अपने “अणालिटिकल इंजिन” के लिए भी कार्यक्षम कीबोर्ड का विचार किया था, ने इस विकसित करने में महत्वपूर्ण योगदान दिया।

कंप्यूटर कीबोर्ड का निर्माण समय के साथ और तकनीकी उन्नति के साथ होता रहा है और विभिन्न तकनीकी संगठनों और वैज्ञानिकों ने इसे सुधारने में योगदान दिया

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Shopping Cart